Small Business Ideas for Villages: गांव में बिजनेस शुरू कर कमाएं भारी मुनाफ़ा!

अगर आप गांव में निवास करते हैं और गांव में बिजनेस (Business in the village) की तालाश कर रहे हैं, तो आप कृषि क्षेत्र में अपना बिजनेस शुरू कर सकते हैं. हालाकिं, खेतीबाड़ी करना इतना आसान नहीं है, लेकिन कृषि क्षेत्र से अच्छा मुनाफ़ा भी नहीं कमाया जा सकता है.

अगर आप गांव में बिजनेस (Business in the village) शुरू करने का अच्छा अवसर खोज रहे हैं, तो मोदी सरकार की एक योजना है, जिसकी मदद से आप गांव में बिजनेस (Business in the village) आसानी से शुरू कर सकते हैं, साथ ही अच्छा पैसा कमा भी सकते हैं. इस योजना से गांव के उन लोगों को काफी फायदा होता है, जो गांव में रोजगार (Business in the village) की तलाश कर रहे हैं, आज हम आपको बताते हैं कि यह स्कीम क्या है? आप कैसे इस योजना से अच्छा पैसा कमा सकते हैं? आपको इसके लिए क्या करना होगा?

Related Links

क्या है ये योजना? (What is this plan?)

केंद्र सरकार की इस योजना का नाम मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना (Soil Health Card Scheme) है. इस योजना की मदद से गांव स्तर पर मिनी यानी छोटा मृदा परीक्षण केंद्र स्थापित कर सकते हैं. इसके जरिए आप बहुत अच्छा पैसा कमा सकते हैं. बता दें कि मौजूदा समय में देश में जितने किसान परिवार हैं, उनकी संख्या के मुकाबले मृदा परीक्षण केंद्र बहुत कम हैं. ऐसे में इस रोजगार का बड़ा स्कोप है.

मृदा परीक्षण केंद्र में क्या होता है? (What Happens at the Soil Testing Center?)

यहां खेत की मिट्टी की जांच होती है. इस दौरान पोषक तत्वों के बारे पता लगाया जाता है, साथ ही इसमें सुधार भी किया जाता है. मिट्टी की जांच कराने के बाद पता चल जाता है कि खेत में कौन सी फसल लगाना चाहिए और कितनी खाद डालना चाहिए. जानकारी के लिए बता दें कि सरकार द्वारा मिट्टी नमूना लेने, जांच करने और मृदा स्वास्थ्य कार्ड (Soil Health Card) उपलब्ध कराने के लिए 300 प्रति नमूना प्रदान किया जा रहा है.

कौन खोल सकता है मृदा परीक्षण केंद्र? (Who can Open Soil Testing Center?)

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना (Soil Health Card Scheme) के तहत 18 से 40 साल तक की आयु वाले ग्रामीण युवा मृदा परीक्षण केंद्र खोल सकते है.

मृदा परीक्षण केंद्र खोलने के लिए योग्यता  (Ability to Open Soil Testing Center)

उम्मीदवार का एग्री क्लिनिक, कृषि उद्यमी प्रशिक्षण के साथ द्वितीय श्रेणी से विज्ञान विषय के साथ मैट्रिक पास होना ज़रूरी है.

मृदा परीक्षण केंद्र खोलने के लिए जगह (Place to Open Soil Testing Center)

गांव में मृदा परीक्षण केंद्र (Soil Health Card) खोलने के लिए ऐसी जगह का चुनाव करें, जहां सभी लोग आसानी से जा सकें. इसके साथ ही परिवाहन आने-जाने की उचित व्यवस्था हो. इसके लिए आप किराए पर दुकान ले सकते हैं अगर आपकी अपनी दुकान है, तो और भी बेहतर होगा.

मृदा परीक्षण केंद्र खोलने में लागत  (Cost to Open a Soil Testing Center)

वैसे इस तरह की कोई भी केंद्र खोलने के लिए लगभग 5 लाख रुपए के आस-पास का खर्चा होता है. मगर मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना (Soil Health Card Scheme) की मदद से आपको लागत का 75 प्रतिशत पैसा सरकारी की तरफ से मिल जाएगा. इसका मतलब यह है कि आपको सरकार इसका 3.75 लाख रुपए देती है. इसके बाद सिर्फ 1 लाख 25 हजार रुपए ही खर्च करने होंगे. बता दें कि सरकार की तरफ से जो पैसा दिया जाएगा, उसमें से 2.5 लाख रुपए जांच मशीन, रसायन व प्रयोगशाला चलाने के लिए खर्च होगा. बाकी अन्य जरूरी चीजें खरीदने पर खर्च होगा. इसके अलावा कंप्यूटर, प्रिंटर, स्कैनर, जीपीएस की खरीद पर लगभग 1 लाख रुपए खर्च होगा.

मृदा परीक्षण केंद्र के लिए कहां करें संपर्क? (Where to Contact for Soil Testing Center?)

  • आप जिले के कृषि उपनिदेशक, संयुक्त निदेशक या उनके कार्यालय में प्रस्ताव दे सकते हैं.
  • इसके लिए nic.in वेबसाइट या soilhealth.dac.gov.in पर संपर्क कर सकते हैं.
  • अधिक जानकारी के लिए किसान कॉल सेंटर (1800-180-1551) पर संपर्क कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *